Hindi bhasha par nibandh in Hindi language | हिंदी भाषा पर निबंध

Hindi bhasha par nibandh in Hindi language आज हर माता-पिता अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा के लिए अच्छे स्कूल में प्रवेश दिलाते हैं| इन स्कूलों में विदेशी भाषाओं पर तो बहुत ध्यान दिया जाता है लेकिन हिन्दी की तरफ कोई खास ध्यान नहीं दिया जाता| लोगों को लगता है कि रोजगार के लिए इसमें कोई खास मौके नहीं मिलते| हिन्दी दिवस मनाने का अर्थ है गुम हो रही हिन्दी को बचाने के लिए एक प्रयास| कोई भी व्यक्ति अगर हिन्दी के अलावा अन्य भाषा में पारंगत है तो उसे दुनिया में ज्यादा ऊंचाई पर चढ़ने की बुलंदियां नजर आने लगती हैं चाहे वह कोई भी विदेशी भाषा हो, फ्रेंच या जर्मन या अन्य और ये कतई सही नहीं है|

हमारे देश के आजाद होने के बाद 14 सितम्बर को हमारी संविधान सभा ने एक निर्णय लिया था| इस निर्णय में उन्होंने हिन्दी को भारत की राष्ट्रभाषा घोषित किया था| और इस महान निर्णय को महत्व देते हुए और पुरे विश्व में हिन्दी को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाते हुए 1953 में यह निर्णय लिया गया किया हर वर्ष 14 सितम्बर को पुरे भारत देश में हिन्दी दिवस मनाया जायेगा|

आज हिन्दी केवल भारत में ही नहीं पूरे विश्व में प्रसिद्ध है और यह कई सारे अंग्रेजों द्वारा भी बोली जाती है| भारत में अधिकतर घरो में हिन्दी बोली जाती है परन्तु आज के युग में बच्चो का इंटरनेट पर नई नई चीज़े देखकर अंग्रेजी, जर्मन आदि जैसे भाषाओ में रूचि बढ़ गई है, में इस चीज़ को गलत नहीं कहूंगा सबको ज़िन्दगी में हर दिन कुछ ना कुछ नया सीखना चाहिए परन्तु साथ ही हमे हमारी मातृभाषा का भी सम्मान करना चाहिए और इसका प्रयोग करना चाहिए|

इसलिए मेरी आप सभी से एक विनती है की हिन्दी भाषा का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करे और इसको हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने की कोशिश करे और सभी माता पिता से भी मेरी विनती है की, आप अपने बच्चो को हिन्दी भाषा का महत्व जरूर समझाएं| कश्मीर से कन्याकुमारी तक, साक्षर से निरक्षर तक प्रत्येक वर्ग का व्यक्ति हिन्दी भाषा को आसानी से बोल-समझ लेता है|

यही इस भाषा की पहचान भी है कि इसे बोलने और समझने में किसी को कोई परेशानी नहीं होती| पहले के समय में अंग्रेजी का ज्यादा चलन नहीं हुआ करता था, तब यही भाषा भारतवासियों या भारत से बाहर रह रहे हर वर्ग के लिए सम्माननीय होती थी| लेकिन बदलते युग के साथ अंग्रेजी ने भारत की जमीं पर अपने पांव गड़ा लिए हैं| आजकल अंग्रेजी बाजार के चलते दुनियाभर में हिंदी जानने और बोलने वाले को अनपढ़ या एक गंवार के रूप में देखा जाता है, या यह कह सकते हैं कि हिन्दी बोलने वालों को लोग तुच्छ नजरिए से देखते हैं|

यह कतई सही नहीं है| हम हमारे ही देश में अंग्रेजी के गुलाम बन बैठे हैं और हम ही अपनी हिन्दी भाषा को वह मान-सम्मान नहीं दे पा रहे हैं, जो भारत और देश की भाषा के प्रति हर देशवासियों के नजर में होना चाहिए| हम या आप जब भी किसी बड़े होटल या बिजनेस क्लास के लोगों के बीच खड़े होकर गर्व से अपनी मातृभाषा का प्रयोग कर रहे होते हैं तो उनके दिमाग में आपकी छवि एक गंवार की बनती है| घर पर बच्चा अतिथियों को अंग्रेजी में कविता आदि सुना दे तो माता-पिता गर्व महसूस करने लगते हैं| परंतु हमे हिंदी भाषापर गर्व होना चाहिये और हिंदी बोली बोलणी चाहिये|

Hindi bhasha par nibandh in Hindi language हिंदी भाषा निबंध आपको कैसा लगा ये हमे कमेंट करके जरूर बताये|

Share on:

इस ब्लॉग पर आपको निबंध, भाषण, अनमोल विचार, कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी |अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Leave a Comment