वृक्षारोपण के महत्व हिंदी निबंध Importance of Tree Plantation Essay in Hindi

वृक्षारोपण के महत्व हिंदी निबंध Importance of Tree Plantation Essay in Hindi: वृक्ष सदा से ही मनुष्य के मित्र रहे हैं। वे प्रकृति को उपकार भावना को प्रकट करते है। उनसे मनुष्य को बहुत कुछ मिलता है। वे मानव जीवन के आवश्यक अंग है। इसीलिए प्राचीन काल से हमारे यहाँ वृक्षारोपण’ की बड़ी महिमा रही है। देश में वृक्षों का अधिक होना उसके सुख, सौभाग्य और समृद्धि की निशानी है।

वृक्षारोपण के महत्व हिंदी निबंध Importance of Tree Plantation Essay in Hindi

वृक्षारोपण के महत्व हिंदी निबंध Importance of Tree Plantation Essay in Hindi

वक्षारोपण एक पुण्यकार्य

वृक्षारोपण को एक पुण्यकार्य माना गया है। एक वृक्ष लगाना और उसका संरक्षण करना उत्तना हो महत्त्वपूर्ण है, जितना किसी संतान को गोद लेना और उसका पालनपोषण तथा विकास करना। अग्निपुराण में तो कहा गया है कि जो वृक्ष लगाता है वह अपने तीस हजार पितरों का उद्धार करता है।

वक्षारोपण के लाभ

वृक्षारोपण से मनुष्य को अनेक लाभ मिलते हैं । वृक्षों के फलने-फूलने से सूने स्थान भी सुंदर बन जाते हैं। वृक्षों की हरियाली मन को प्रसन्न करती है। उनकी शीतल छाया गर्मी की दोपहर में सुख शांति देती है। उनके फूल फल तथा उनके पत्ते-लकड़ी हमारे लिए बहुत उपयोगी होते हैं। वृक्षों से कागज, दियासलाई, गोंद, भौति-भाँति की दवाइयाँ और तैलों की प्राप्ति होती है।

वैज्ञानिक और भौगोलिक दृष्टि से महत्त्व

वैज्ञानिक और भौगोलिक दृष्टि से भी वृक्षारोपण महत्त्वपूर्ण है। वृक्षों से वायुमंडल शीतल और शुद्ध बनता है । शुद्ध हवा लोगों को स्वस्थ बनाती है । वृक्षों के आकर्षण से बादल वर्षा करते हैं और अकाल का भय दूर होता है । खेतों के चारों ओर वृक्ष लगाने से वर्षा में खेतों की मिट्टी का संरक्षण होता है और अनाज का उत्पादन बढ़ता है। नदी के किनारे वृक्ष लगाने से किनारों का कटाव रुकता है। सड़कों के किनारे वृक्ष लगाने से उनकी शोभा बढ़ती है और पथिर्को को छाया मिलती है।

उपसंहार

सचमुच, प्रकृति का बनाया हुआ एक भी पेड़ अनुपयोगी नहीं होता । वृक्षारोपण Importance of Tree Plantation हमारा एक सामाजिक कर्तव्य है। वह जीवन को स्वस्थ, सुंदर और सुखी बनाता है। प्रति वर्ष वनमहोत्सव मनाकर हमें इस योजना में जरूर सहयोग देना चाहिए। यह खुशी की बात है कि आज हम वृक्षारोपण के महत्त्व को समझने लगे हैं। आज शहरों में वृक्ष लगाओ’ सप्ताह मनाए जाते हैं। नगरपालिकाएँ भी वृक्षारोपण के कार्यक्रम को प्रोत्साहन दे रही हैं। स्व. प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्मदिवस पर भी वृक्षारोपण करने की परंपरा चल पड़ी है और अधिकाधिक वृक्ष लगानेवाले व्यक्ति या संस्था को ‘वृक्ष मित्र’ पुरस्कार दिया जाता है। इसमें संदेह नहीं कि देश में हरेभरे वृक्ष जितने अधिक होंगे, देश का जीवन भी उतना ही हराभरा होगा। इसलिए हमें वृक्षारोपण की प्रवृत्ति को उत्साहपूर्वक अपनाना चाहिए।

Share on:

इस ब्लॉग पर आपको निबंध, भाषण, अनमोल विचार, कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी |अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Leave a Comment