एक ऐतिहासिक स्थान की मुलाकात हिंदी निबंध Visit to Historical Place Essay in Hindi

Visit to Historical Place Essay in Hindi: भारत का इतिहास गौरवपूर्ण है। यहाँ के अनेक ऐतिहासिक स्थान इसके साक्षी हैं। ऐतिहासिक स्थानों की सुंदरता और महत्ता का परिचय उन्हें देखकर ही हो सकता है। हमने इतिहास में फतहपुर सीकरी के बारे में बहुत कुछ पढ़ा था। हमारे मन में इस ऐतिहासिक स्थान को देखने की उत्सुकता जाग्रत हुई और गर्मी की छुट्टियों में हम वहाँ जाने के लिए निकल पड़े।

एक ऐतिहासिक स्थान की मुलाकात हिंदी निबंध - Visit to Historical Place Essay in Hindi

एक ऐतिहासिक स्थान की मुलाकात हिंदी निबंध – Visit to Historical Place Essay in Hindi

फतहपुर सीकरी का परिचय

फतहपुर सीकरी एक ऐतिहासिक स्थान है। भारतीय कला और शिल्प के अनेक उत्कृष्ट नमूने यहाँ मिलते हैं। यह स्थान मुगल सम्राट अकबर की लीलाभूमि रहा है, उसकी शानशौकत की यह यादगार है।

बुलंद दरवाजा

सीकरी का बुलंद दरवाजा बहुत ऊँचा है। इसकी रचना इतनी सुंदर है कि देख ते ही मुँह से ‘वाह’, ‘वाह’ के शब्द अपने आप निकल पड़ते हैं। इसके समीप एक बड़ा रमणीय सरोवर है। दरवाजे से लगा हुआ एक फकीर का मकबरा है। कहते हैं, उस फकीर की दुआ से ही बादशाह अकबर को जहाँगीर जैसा होनहार बेटा प्राप्त हुआ था।

फतहपुर सीकरी के महल

इस ऐतिहासिक स्थान की दूसरी शान पंचमहल, बीरबल का महल और रानी जोधाबाई का महल है। पंचमहल में पाँच मंजिलें इस तरह बनाई गई है कि वे ऊपर की ओर सँकरी तथा नीचे की ओर विस्तृत होती जाती हैं। इसकी कला इतनी प्रभावशाली है कि ऊपर चढ़ने में थकावट महसूस नहीं होती, बल्कि आनंद का ही अनुभव होता है । बीरबल का महल भी बड़ा सुंदर है। यह महल उस बीरबल की याद ताजी कराता है, जिसका विनोद अकबर के जीवन का एक विशिष्ट अंग बन गया था। जोधाबाई का महल देखते ही हमारे समक्ष भारत के गौरवपूर्ण अतीत का चित्र उपस्थित हो गया।

दीवाने खास, हिरन मीनार आदि

दीवाने खास की सुंदरता ने भी हमारा ध्यान आकृष्ट किया। इसमें बादशाह अकबर अपने मंत्रियों से सलाह-मशविरा किया करता था। अकबर यहाँ पूजागृह में सब धर्मों के आचार्यों और पंड़ितों को बुलाकर उनकी धर्मचर्चाएँ सुनता था । हमने हिरन मीनार और हाथी दरवाजा भी देखा। हाथी दरवाजा यहाँ के किले के अंदर प्रवेश करते ही दिखाई पड़ता है। सचमुच, द्वार पर बने हाथी अकबर की महत्ता के प्रतीक जैसे लगते हैं।

फतहपुर सीकरी का संदेश

इस प्रकार फतहपुर सीकरी की भव्यता के दर्शन करने पर हमारी उत्सुकता शांत हुई। भारतीय इतिहास में बादशाह अकबर हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है। फतहपुर सीकरी की कला में भी हमने उसी एकता के दर्शन किए।

Share on:

इस ब्लॉग पर आपको निबंध, भाषण, अनमोल विचार, कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी |अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Leave a Comment